राजनीति

‘भाजपा हमसे जलती है लेकिन उसे ‘बरनॉल’ लगाने को नहीं कहूंगा’

महाराष्ट्र में सत्ता संभालने के बाद शिवसेना के तेवर बदल गए हैं. कभी बीजेपी के साथ रही शिवसेना आप उसे बरनॉल लगाने की सलाह भी नहीं देना चाहती. शिवसेना विधायक आदित्य ठाकरे ने भाजपा पर एक बार फिर से तीखा हमला बोला है.

शिवसेना और भाजपा के बीच अब रिश्ते बिगड़ चुके हैं. यही वजह है की आदित्य ठाकरे भाजपा को घेरने का कोई मौका नहीं चूकना चाहते. शिवेसना प्रमुख तथा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 15 दिसंबर को संशोधित नागरिकता कानून का विरोध कर रहे जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों पर पुलिस की कार्रवाई की तुलना 1919 के जलियावाला बाग नरसंहार से की थी, जिसपर पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस की पत्नी अमृता फड़णवीस ने उद्धव की आलोचना की थी. अमृता फड़णवीस के बयान की ओर इशारा करते हुए आदित्य ने शुक्रवार को अपने पिता का बचाव किया. आदित्य ठाकरे ने तंज कसते हुए कहा,

‘विपक्ष शिवसेना से ईर्ष्या करता है. हम उनके इस दर्द को समझते है. राज्य की सत्ता से बाहर जाने की वजह से बेहद दुखी है. मैं उन्हें बरनॉल लगाने की सलाह नहीं दूंगा. राज्य की जनता ने हम पर विश्वास जताया है. हमारी सरकार अपने काम पर पूरा ध्यान दे रही है. हम जनता से किए गए वादों को पूरा करने की तरफ तेजी से काम कर रहे है.कुछ वादों को पूरा करना शुरू भी कर दिया है. जैसे कि कर्ज माफी 10 रूपए खाना और लोगों को घर मुहैया करवाना.’

आदित्य ने कहा, ‘शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी का गठबंधन राज्य के कल्याण के लिए काम करती रहेगी. हम इस तरह के ट्रोल्स को नजरअंदाज करेंगे. उन लोगों को हमें ट्रोल करने दीजिए क्योंक वे सत्ता में नहीं है. वे इसी काम में व्यस्त रहे. आदित्य ठाकरे ने शुक्रवार को पत्रकारों से कहा, ‘सोशल मीडिया ट्रोल्स को नजरअंदाज कर देना चाहिये और विकास कार्यों पर ध्यान लगाना चाहिये. जिन लोगों ने वादे पूरे नहीं किये अब वे सत्ता में नहीं है. हमें उनका दर्द समझना चाहिये.’ बीजेपी और शिवसेना के अलगाव के बाद आदित्य ठाकरे का भाजपा पर ये सबसे जोरदार हमला है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close